भारत में रोजाना 300000 पीपीई किट बन रहे हैं जाने पूरी रिपोर्ट

0
132

अभी कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉक डॉन 4.0 के दौरान कहा था कि इस आपदा को भी हम अवसर में बदल सकते हैं | इसी को लेकर अब जो डाटा सामने आ रहे हैं वह हैरान करने वाला है आपको बता दें कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी पीपीई किट है|

चीन ने भेजा था डुप्लीकेट पीपीआई किट

जो पहले चीन से आयात किया जाता था और इसी चीन ने सारा डुप्लीकेट पीपीई किट इंडिया को दिया था|जिसके बाद इंडिया ने चीन को पीपीई किट वापस कर दिया था | लेकिन प्रधानमंत्री के इस आग्रह के बाद अब आलम यह है कि भारत रोजाना 300000 पीपीई किट बना रहा है, जो कि एक बहुत बड़ी उपलब्धि है| क्योंकि इससे आयात करने में खर्च बच गया और देश में लोगों को व्यवसाय भी मिल गया|

यूनियन कॉमर्स और इंडस्ट्री मिनिस्टर पीयूष गोयल ने बताया कि भारत पूरी दुनिया में टेक्सटाइल में एक अलग पहचान रखता है चाहे वह कॉटन टैक्सटाइल हो या लेटेस्ट ट्रेंड मैन मेड टैक्सटाइल, भारत इन सभी क्षेत्रों में पूरी दुनिया में अहम भूमिका निभा रहा है| उन्होंने बताया कि पहले भारत में चंद पीपीई किट बनते थे जो कि हम डॉक्टर और नर्स को इसको  टीवी पर पहने हुए देखते हैं| जो कि अब लगभग तीन लाख हर रोज भारत में बन रहे हैं| उन्होंने कहा कि इस चीज को हमारी रेलवे तक ने बनाना शुरू कर दिया है आगे चलकर बहुत बड़ा यह एक्सपोर्ट का सेक्टर बन जाएगा | जिसमें पीपीई किट, मास्क, सैनिटाइजर आदि शामिल है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here